blogid : 313 postid : 763956

मूड कैसा भी हो...ये सब तो करना ही है, जानिए लड़कियों के सिर पर कौन सा भूत अक्सर सवार होता है

Posted On: 17 Jul, 2014 lifestyle में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

“अब बस भी करो…..और कितना सामान लेना है? मैं और सामान नहीं उठा सकता. तुम क्यूं मेरी सारी कमाई इसमें लगाती हो?” अकसर यह बोल हम एक पति के मुंह से तब सुनते हैं जब उसकी पत्नी धड़ाधड़ शॉपिंग करती है.


घर चलाने के लिए, खाना बनाने के लिए, कपड़े पहनने के लिए जब आप बाजार में जाते हैं तो हम उसे आमतौर पर खरीददारी करना कहते हैं लेकिन लड़कियों के बीच यह ‘शॉपिंग’ के नाम से प्रसिद्ध है. अब यूं कहें कि यह एक ऐसा भूत है जो उतारे नहीं उतरता है.


shopping


जरूरत हो या ना हो, इन्हें तो शॉपिंग करनी ही है. औरतों को शॉपिंग का बुखार कब और कैसे चढ़ता है इसका जवाब तो कोई नहीं दे पाया है लेकिन यहां हमने कुछ चीजों को समझने की कोशिश की है और बताया है कि क्यूं ‘लड़कियां शॉपिंग के लिए’ व ‘शॉपिंग लड़कियों के लिए’ ही बनी है.


क्योंकि ये हैं खास


सजना-संवरना तो हर लड़की को पसंद है लेकिन इसके लिए ये लोग कढ़ी मेहनत करती हैं जिसमें से एक पड़ाव है ढेर सारी शॉपिंग. मेकअप, कपड़े, जूते, और भी कितना कुछ. खुद को भीड़ के बीच सबसे सुंदर बनाने की लत भी लड़कियों से खूब शॉपिंग कराती है.


accro-shopping


Read More: कमसिन लड़कियों की टोली ने अपने पैर किराए पर दे दिए, लेकिन कैसे, यह और भी मजेदार है


अब मूड जैसा भी हो शॉपिंग करनी है


शॉपिंग लड़कियों के सभी दुखों व तकलीफों का इलाज है. अब मूड जैसा भी हो, दुखी हों, खुश हों या बीमार ही क्यों ना हों, शॉपिंग के लिए लड़कियां हरदम फिट हैं.


shopping (1)


इतनी शॉपिंग की पर…


अब यह तो हद ही हो गई. लड़कियां जब भी अपनी अलमारी खोलती हैं तो कपड़े ऐसे गिरते हैं जैसे कोई भूचाल आ गया हो लेकिन फिर भी एक ही बात बोलेगी, ‘आज क्या पहनूं, कुछ अच्छा नहीं है मेरे पास, लगता है शॉपिंग करनी पड़ेगी’.


girl has nothing to wear


देश की नहीं लेकिन शॉपिंग की सारी खबर हो


लड़कियों को भले ही अपने देश के प्रधानमंत्री का नाम तक पता ना हो लेकिन आने वाले दिनों में किस ‘मॉल’ या शॉपिंग सेंटर में ‘सेल’ लगने वाली है इस बात की पूरी खबर होती है. सिर्फ इतना ही नहीं ये खबर वो धीरे-धीरे सभी लड़कियों तक एक रिपोर्टर की तरह पहुंचा देती हैं. है ना लाजवाब?


girl reaction


Read More: मृत्यु से कुछ घंटे पहले क्या सोचता है इंसान? पढ़िए एक हैरान करने वाला खुलासा


शॉपिंग तो बहाना है


त्यौहार हो या किसी की शादी, यह तो बस एक बहाना है, सीधा मुद्दा तो यह है कि अब शॉपिंग करने का समय है. अब आपको यह जानकर हैरानी होगी कि यदि एक महीने में 2 से 3 शादियों का निमंत्रण आ जाए तो सबसे ज्यादा तकलीफ लड़कियों को ही होती है क्योंकि वे किसी भी समारोह पर पहले से पहनी हुई ड्रेस को दोहरा नहीं सकती ना. सुनने में हास्यास्पद लगता है लेकिन ये सच है.


alg-women-shopping-jpg


एक ये भी कारण है


जो कपड़े कुछ समय पहले खरीदे थे वे पुराने हो गए अब नए लेने है और वो क्यूं, क्योंकि नए कपड़े पहनकर जब बाहर निकलेंगे तो लोग देखेंगे, तारीफ करेंगे और तारीफ सुनना तो एक औरत का हक़ है.


Read More: सांपों के जहर से बनी एक मांसाहारी शराब, हिम्मत है तो ट्राय करके देखिए यह स्नेक वाइन


आयरन फिश का नाम सुना है कभी? इस लौह फिश का चमत्कार देख चौंक जाएंगे जनाब


मिलिए दुनिया के सबसे मजाकिया ‘डैडी द ग्रेट’ से, आप सोच भी नहीं सकते कि ये कितने फनी हैं

Web Title : shopping-fever-in-girls



Tags:                                                         

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran