blogid : 313 postid : 817927

इंटरनेट और सोशल मीडिया के इस दौर में क्या आप भी 90 के दशक की इन चीजों को मिस कर रहे हैं

Posted On: 17 Dec, 2014 मेट्रो लाइफ में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

तकनीक और बढ़ते बाजार की इस दौर में आज हमे वो तमाम चीजें बड़ी ही सरलता से उपलब्ध हो जाती है जिनके बारे में हम कभी कल्पना भी नहीं करते थे लेकिन जरा सोचिए, 90 का वह दशक जब हमारे पास मनोरंजन के बहुत ही कम साधन हुआ करते थे लेकिन फिर भी हम खुद को इंटरटेन कर ही लेते थे.


स्कूल में टाइम पास गेम


pen


एक दौर था जब बच्चा-बच्चा अपने हाथ में टैटू बनाता था


babool



Read: बच्चे ने जन्म लेने से पहले ही स्कूल में मास्टर बनने की योग्यता हासिल कर ली


इस गेम के बच्चे तो क्या बड़े भी दीवाने थे


game


नेशनल पर एकमात्र ये कार्टून देखकर आपके चेहरे पर आती थी मुस्कान


uncle cruze


90 के दशक में बच्चे-बच्चे के दिमाग में बसता था यह मोगली


mogali


कभी ये सिक्के आपके चेहरे पर मुस्कान ले आती थी


coin



ये गेम खेलकर आपने कितने देर तक खुद को संतुलित किया

missing


इस गेम मशीन को खरीदने के लिए आपने भी पैसे जोड़े होंगे


image


तब के खाली वक्तों में बच्चों का पसंदीदा गेम था ये


game01



Read: क्या आप भी अपने बच्चे को क्रेच में छोड़कर ऑफिस जाते हैं? सावधान हो जाइए वहां उनके साथ ऐसा भी हो सकता है!!


दीवाली में इस बंदूक को पकड़कर बच्चे खुद को किसी हिरों से कम नहीं समझते थे


image12


मुंह मीठा करने के लिए बच्चों के लिए इससे बड़ी चीज कोई है ही नहीं


image99


90 के दशक में विद्यार्थी की सबसे बड़ी पूंजी


image98


इस गेम के जरिए आपने क्या-क्या नहीं उड़ाया


image97


गर्मी में राहत देता था इसका स्वाद


image123


Next……


Read more:

जानिए क्यों कहा जाता है व्यस्क फिल्मों को ब्लू फिल्म

‘जिराफ वुमेन’ के पीछे छिपा है दर्दनाक राज

बच्चे के उपर एसयूवी गाड़ी चढ़ी और उसे खरोच तक नहीं आई (देखिए अद्भुत वीडियो)


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

171 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Loree के द्वारा
May 21, 2016

Thanks for spending time on the computer (wtriing) so others don’t have to.

abhishek malik के द्वारा
April 28, 2015

बिलकुल सही कहा आपने


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran