blogid : 313 postid : 1023712

भूत-प्रेत की वहज से छोड़ा गया था यह गांव, अब पर्यटकों के लिए बना पसंदीदा जगह

Posted On: 17 Aug, 2015 मेट्रो लाइफ में

Chandan Roy

  • SocialTwist Tell-a-Friend

कहा जाता है कि समय से बड़ा बलवान कोई नहीं होता. समय जिस पर मेहरबान हो जाए, उसे रंक से राजा बनने में जरा भी वक्त नहीं लगता. जी हाँ, चीन में भी कुछ ऐसा ही हुआ है लेकिन यह घटना किसी इंसान से साथ नहीं, बल्कि चीन के एक पर्यटन स्थल के साथ हुआ है. चीन का एक गाँव जिसे लोग दशकों पहले छोड़ कर चले गए थे क्योंकि उन सब का मानना था कि इस गाँव में भुत-प्रेत का वास है. वर्षों बाद समय का पहिया घुमा और यह गाँव प्रकृति के गोद में आ बैठा. अब फिर से यह गाँव लोगों के सबसे पसंदीदा स्थानों में से एक बन गया है. अब पूरे विश्व से पर्यटक यहाँ आकर रहना चाहते हैं.



china-1


यह गाँव हांग्झोउ खाड़ी के पूर्व में स्थित है. झेजियांग प्रांत की इस गाँव की सबसे खूबसूरत चीज शेन्गसी लताएं हैं जो टूटे-फूटे दीवारों को ढके हुए हैं. मकान पर ये लताएं इस कदर ढके हुए है जैसे मानों किसी चित्रकार ने दीवारों पर चित्रकारी की हो. घरों के बीच बने टेढ़े-मेढ़े और तंग रास्ते इसकी खूबसूरती में चार चांद लगा देते हैं.


Read: वीरान घर में आज भी भटकती है मधुबाला की रूह


इतिहास- चीन का यह गांव सालों से वीरान पड़ा हुआ था. झेजियांग प्रांत के इस गाँव में 400 आइलैंड वाले शेन्गसी के गॉकी यहाँ रहते थे. एक दौर था जब यह मछली पकड़ने का सबसे बेहतरीन ठिकाना हुआ करता था. भूत-प्रेत के भय से गाँव के लोग यहाँ से चले गए थे. तब से यह गाँव वीरान पड़ा था. वीरान होने के कारण इस गाँव के मकान टूटने लग गए थे. लेकिन अब यह गाँव फिर से हरा-भरा हो गया है.



china ok


नैनिंग के फोटोग्राफर तांग यूहांग ने इस गाँव के खूबसूरती को अपने कैमरे में कैद किया हैं.


Read: क्या वाकई वह ‘आत्मा’ थी जिसे देखा तो नहीं गया पर महसूस किया गया


हांग्झोउ खाड़ी के पूर्व में स्थित इस आइलैंड तक पहुंचने में कुछ ही घंटे लगते हैं. यह गाँव शंघाई शहर से ठीक उल्टा प्रकृति की गोद में समाया हुआ है. शेन्गसी आइलैंड के यांगत्सी नदी के मुहाने पर बसे कई आइलैंड अब भी मशहूर टूरिस्ट डेस्टिनेशन हैं और सीफूड के शौकीनों के लिए यह स्थान सबसे बेहतर माना जाता है.Next…


Read more:

भटकती रूह की सच्ची कहानी

एक गलती ने मजबूर कर दिया एक आत्मा को भटकने के लिए, पढ़िए कैसे मरने के बाद एक औरत खुद अपना दर्द बयां करने लौट आई

जहां मां को तोहफे में मिलते हैं बच्चे!!



Tags:                               

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran