blogid : 313 postid : 1123650

जब कलेक्टर और पुलिस अधिकारी नीली और लाल बत्ती की जगह साइकिल पर दिखे

Posted On: 18 Dec, 2015 मेट्रो लाइफ में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

दिल्ली में  22 तारीख  के “कार फ्री डे” के इश्तेहार को आपने देखा ही होगा. अब इस महत्वपूर्ण पहल का कितना लाभ दिल्लीवासी उठा रहे हैं यह तो दिल्ली की ट्रैफिक से ही पता चलता है. परन्तु इस पहल को पश्चिम बंगाल के बर्दवान जिले ने स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए अपना लिया है. बीते मंगलवार को बर्दवान जिले में “कार फ्री डे” सफल रहा. यह कदम जिले में वायु प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए उठाया गया है. जिले के शीर्ष अधिकारियों ने इसकी अगुवाई की. अधिकारियों ने अपने प्रदेश के सभी लोगों को यह संदेश दिया है कि कामकाजी लोग आने-जाने के लिए साइकिल का प्रयोग करें.


car-free_story_647_121615050452


नागरिकों की तरफ से मिले सहयोग और प्रतिकिया पर जिला मजिस्ट्रेट सौमित्र मोहन खुश हैं. उन्होंने कहा कि ‘हमारा उद्देश्य लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरुक करना है.’ इसकी शुरुआत कैसे हुई? इस प्रश्न के जवाब में मोहन कहते हैं कि ‘करीब एक महीने पहले हम लोगों ने यह निर्णय लिया कि किसी एक दिन पूरे जिले में कार और मोटरसाइकल फ्री डे होना चाहिए. इस पहल से न केवल वायु प्रदूषण कम होगा बल्कि इंधन की बचत और सड़कों पर जाम से भी छुटकारा मिलेगा.’


63cycle


Read: आत्महत्या की धमकी दे रहा था, पुलिस ने मारी गोली


जिला मजिस्ट्रेट मोहन ने कहा कि ‘बर्दवान जिले के लोगों ने इसे हाथों-हाथ लिया.’ खबर के मुताबिक ज्यादातर निजी वाहन उस दिन नहीं चले. कार फ्री डे अभी तो मासिक है लेकिन आगे चलकर इसे साप्ताहिक बनाने की उम्मीद है.


car-story_mos_121615050630


एक अधिकारिक बयान में बताया गया है कि इस जिले में दो पहिया और चार पहिया वाहनों की संख्या 3,00,000 है. कार फ्री डे के कारण इनमें से 2,00,000 वाहन उस दिन नहीं चल पाए. अनुमान लगाया जा रहा है कि इस कारण हजारों लीटर इंधन की बचत और लगभग 60 प्रतिशत प्रदूषण कम हुआ.


Read: ‘अगर मैं इनके साथ शारीरिक संबंध नहीं बनाता तो ये आत्महत्या कर लेते’: योग गुरू


जिला के एसपी कुणाल अग्रवाल ने बताया कि ‘हमारे अधिकांश अधिकारी पैदल या साइकिल से चलकर दफ्तर आएं थे. कार फ्री डे के दिन केवल सार्वजनिक और आपातकालीन वाहन ही सड़क पर दिखाई दे रहे थे. हम बैट्री से चलने वाले ऑटो रिक्सा को बढ़ावा देने के विषय में सोच रहे हैं. यह एक अच्छा संकेत है. उम्मीद करता हूं यह अभियान आगे चलकर और लोकप्रिय होगा.’ Next…


Read more:

गलती पर यहाँ पुलिस अधिकारियों को ऐसे दी जाती है सजा

पुलिस अधिकारी को नीचा क्या दिखाया, मंत्री साहब पद से हटा दिए गए

इस नेता का दिल अभी भी बच्चा है, मीडिया के सामने आते ही रोने लगते हैं. देखें वीडियो:



Tags:                       

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Adelaide के द्वारा
May 21, 2016

Thanks for your thuthgos. It’s helped me a lot.


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran