blogid : 313 postid : 871210

तो ये सीख देती है भारत में बनी नन्हीं बच्ची की यह मूर्ति!

Posted On: 23 Jan, 2016 मेट्रो लाइफ,lifestyle में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

मुस्कुराहट सैकड़ों ग़मों को दूर कर सकता है. वो ग़म जो रोजाना आँखें बंद कर भाग रहे लोगों को सताते हैं, उन्हें खोखला करने की कोशिश करते हैं. ग़मों का कारण और असर चाहे जो भी हो लेकिन एक अदद मुस्कुराहट ग़मज़दों को जीने का हौसला प्रदान करते हैं.


RK Beach01


दिल्ली के बारे में यह कहा जाता है कि, ‘यह यहाँ रहने वाले लोगों को बहुत कुछ देती है.’ लेकिन हाल ही में दिल्ली के तुर्कमान गेट पर एक मामूली से झगड़े में जो हुआ वह ख़ौफनाक ही नहीं अमानवीय कही जा सकती है. तुर्कमान गेट के पास सड़क पर एक मामूली-सी बात पर पाँच लोगों ने एक व्यक्ति को लोहे की छड़ से पीट-पीट कर मार डाला. मृतक के मासूम बच्चे वहाँ अपने पिता को पिटते देखते रहे लेकिन रोते-बिलखते उन बच्चों पर ना ही राहगीरों को दया आयी और ना ही उन पाँचों हिंसा के अनुयायियों को.


Read: बाबा रामदेव के हॉलीवुड और बॉलीवुड में हैं कई अवतार


सोचिये, उस समाज में जहाँ लोग छोटी-छोटी बातों पर जान लेकर ही दम साधते हैं वहाँ मुस्कुराहटों की कितनी जरूरत है. मुस्कुराने में ना ही अतिरिक्त प्रयास करना पड़ता है और ना ही कोई श्रम लगता है. आसान और सस्ता होने के बावजूद क्या एक अदद मुस्कुराहट इतनी दुर्लभ है? आप सड़क पर जाम में फँसे हों या किसी रेलगाड़ी के भीड़-भाड़ वाले डिब्बे में, किसी को कुछ समझाना हो या किसी से कुछ माँगना! ऐसी किसी विषम परिस्थितियों में केवल एक बार मुस्कुरा कर देखिये! एक मुस्कुराहट कई कड़वाहटों को दूर कर सकती है.


Read: खूबसूरत दिखने के लिए 40 वर्षों से हंसी नहीं है यह महिला


हाँ, अगर आपको मुस्कुराने का कोई कारण ना दिख रहा हो तो विशाखापत्तनम में पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र बनी नन्हीं बच्ची की इस मूर्ति की छवि अपने दिमाग में कैद कर लें. निश्चित रूप से आपको लाभ होगा.Next….


Read more:

सीरिया में दहशत का आलम, बच्ची ने कैमरे को बंदूक समझ किया सरेंडर

8 साल के बच्चे को आखिर बंदूक का लाइसेंस क्यों?



Tags:                       

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Arnie के द्वारा
May 21, 2016

I’m so glad I found my soutoiln online.


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran