blogid : 313 postid : 1288747

पिता थे ईस्ट इंडिया कंपनी में जनरल मैनेजर, बेटी है आज 2700 करोड़ की प्रॉपर्टी की मालकिन

Posted On: 25 Oct, 2016 lifestyle में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

पाल के नवाबों का शाही निवास
भोपाल के सबसे पॉश इलाके कोहेफिजा में है यह शाही निवास. इसके एक हिस्से में कॉलेज बन चुका है और दूसरे हिस्से में नवाब के वारिस स्कूल चला रहे हैं. इसकी कीमत भी अरबों में है.
सैफ के पास है इतने करोड़ की संपत्ति
बॉलीवुड के छोटे नवाब और पटौती खानदान के 10 वें नवाब सैफ अली खान के पास करीब कुल 750 करोड़ी की जायदाद है. वैसे पटौदी खानदान में दोनों बेटियां सोला अली खान से बड़ी सबा अली खान भी इस रियासत पर अपना पूरा हक रखती हैं.
Read More:

भारतीय क्रिकेट के सबसे सफल क्रिकेटरों मेंं से एक मंसूर अली खान पटौदी से शायद ही कोई अंजान हो. पटौदी और शर्मिला की प्रेम कहानी से सभी वाकिफ हैंं. शर्मिला जहां एक तरफ हिंदू बंगाली परिवार से थी वहीं मंसूर अली खान एक नवाब थे. पटौदी खानदान से नाम जुड़ने के बाद वह भोपाल की बेगम बन गई. शाही खानदान को शर्मिला ने बहुत अच्छे से देखा और अपने पति के जाने के बाद भी वह इस पटौदी खानदान की देखभाल बहुत अच्छे से कर रही हैं. आपको बता दें शर्मिला टैगोर के पिता गीतिंद्रनाथ टैगोर आजादी से पहले ईस्ट इंडिया कंपनी के सामित्व वाली एल्गिन मिल्स में जनरल मैनेजर के रूप में काम करते थे.

Sharmila1


अब शर्मिला के पास है अरबों की दौलत

पटौदी परिवार की कमान अब शर्मिला के पास है. शाही संपत्ति को शर्मिला और उनकी बेटी संभालती हैंं. यह शायद शर्मिला को भी मुंह जबानी नहीं पता होगा कि उनकी कुल संपत्ति कितनी है. एक अनुमान के मुताबिक 2700 करोड़ की प्रापर्टी से भी अधिक नवाब खानदान की प्रापर्टी है. इनमें से अधिकतर हवेलियां हैं, जिनके दाम करोड़ों में है, लेकिन इन सम्पत्तियों के बारे में कई विवाद भी है. सैफ की बहन सबा अली खान अपनी मां की कुल 2700 करोड़ की प्रापर्टी की देखभाल करती हैं.


Sharmila Tagore


फ्लैग स्टाफ हाउस

भोपाल नवाब की यह वही संपत्ति है, जो विवादों से घिरी हुई है. इस कोठी की कीमत सवा अरब से ज्यादा की है. इसके अलावा इस कोठी में नवाब के समय के कई एंटीक सामान भी मौजूद हैं.


flagstaff

चिकलोद कोठी

भोपाल से 30 किलोमीटर दूर स्थित चिकलोद कोठी के आसपास के जंगल हमेशा ही नवाब की शिकारगाह रहे है. देश के पहले प्रधानमंत्री पं. जवाहर नेहरू भी यहां रुकना पसंद करते थे. नेहरू को यह जगह इतनी पसंद थी कि वे अक्सर यहां प्रोटोकॉल तोड़कर चले आते थे. इस हवेली पर फिलहाल विवाद चल रहा है, लेकिन इसकी कीमत कम से कम 200 करोड़ के पास होगी.


chiklod-kodh

रॉयल पटौदी पैलेस

पटौदी के शाही खानदान की इस प्रॉपर्टी की कीमत करीब 800 करोड़ रुपए आंकी जाती है. अब इसे हेरिटेज होटल में तब्दील कर दिया गया है. यहां अक्सर सैफ और करीना आया करते हैं.


pataudi-palace


Read: ये हैं दुनिया की सबसे कम उम्र की अरबपति, इनके शौक भी हैं नवाबी


नवाब का शाही निवास

भोपाल के पॉश इलाके कोह-ए-फ़िज़ा में स्थित यहां नवाब का शाही निवास है. इसके एक हिस्से में कॉलेज बन चुका है और दूसरे हिस्से में नवाब के वारिस स्कूल चला रहे हैं. इसकी कीमत भी करोड़ों में हैं.


sharmila


मस्जिद, दरगाह

भोपाल के नवाबों द्वारा बनायी गई इस मस्जिद और दरगाह की संपत्ति की देख-रेख एक ट्रस्ट करता है. इसे औकाफ-ए शाही कहा जाता है. मक्का-मदीना की धर्मशाला भी यही ट्रस्ट संभालता है.


saif

सैकड़ों एकड़ में फैली है जमीन

नवाब की भोपाल, रायसेन, सीहोर जिलों में सैकड़ों एकड़ जमीन आज भी है. भोपाल नवाब खानदान के पास अब भी 2700 एकड़ जमीन है. कई जमीनों पर मुकदमे चल रहे हैं. कई जमीनें नवाब के कब्जे में है.

नवाबों का शाही निवास

भोपाल के सबसे पॉश इलाके कोहेफिजा में है यह शाही निवास. इसके एक हिस्से में कॉलेज बन चुका है और दूसरे हिस्से में नवाब के वारिस स्कूल चला रहे हैं. इसकी कीमत भी अरबों में है.


saifs


सैफ के पास है इतने करोड़ की संपत्ति

बॉलीवुड के छोटे नवाब और पटौदी खानदान के 10वें नवाब सैफ अली खान के पास करीब कुल 750 करोड़ की जायदाद है. वैसे पटौदी खानदान में दोनों बेटियां सोला अली खान और सबा अली खान भी इस रियासत पर अपना पूरा हक रखती हैं…Next


Read More:

भारत के सभी नोट पर हस्ताक्षर करने वाले व्यक्ति की ये है सैलरी

धोनी और शाहरुख से महंगी घड़ी पहनते हैं विराट, जानें कैसी घड़ी पहनते हैं स्टार्स

पहले थी स्कूल टीचर, आज 3 लाख की चाय और 40 लाख की साड़ी पहनती हैं नीता अंबानी




Tags:                       

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran